Search for an answer or browse help topics to create a ticket
View all categories

Why is my account in debit after placing a stop-loss order for my position?

(हिंदी में पढ़ें)

The reason for debit in the account after placing the SL could be because of a hedged position. Hedging is a simple workaround to protect your trading positions from making a loss in the event of any adverse market movements. Read more on hedging here .

Do remember that you get a margin benefit for your hedged positions. This means that the funds blocked for your trades for hedged positions will be lesser.

Let’s say you have two open positions which are hedged against each other.

  1. You place a Stop-Loss order for one of the positions.
  2. When you place a stop-loss order for either of the positions, the position is no longer hedged. It is considered as two open positions instead.
  3. The margin immediately increases for the two open positions.
  4. If you don’t have sufficient funds in your account to cover the margin for a naked position, you will receive an SMS and an email notifying you about the margin shortfall (shortage of funds).
  5. You can now add funds to your account to avoid the position being squared off (closing/exiting an existing position is called “square off”).
  6. Alternatively, you can avoid placing a stop-loss order and track the hedged position yourself, and exit when necessary.
  7. You can place a GTT order instead of a stop-loss order to avoid losing margin benefit on Hedged positions. No other broker in India is providing this GTT feature.

Here is an example with numbers that may help you understand this better:

  1. Suppose you have a Nifty long position which you have hedged with a short call position.
  2. After taking these positions, the funds blocked in your trading account will be Rs.1,62,000 (because of the hedging margin benefit).
  3. Without the hedge, the complete margin for both these positions would be Rs. 2,94,315 (Rs.1,63,433 for Nifty Futures and Rs.1,30,882.20 for Nifty May CE).
  4. If you place a Stop loss order for Nifty May 15000 CE, the hedging benefit is lost.
  5. The complete margin of Rs. 294315 will now be blocked in your trading account.
  6. If there are not enough funds available in your account, you will receive an SMS/Email for the margin call.
  7. If you are placing a GTT order instead of a Stop loss order, the funds blocked will still be Rs. 1,62,000 as you won’t be losing the margin benefit. Click here to know more about how you can use the GTT feature.

अपने पोज़िशन के लिए स्टॉप-लॉस आर्डर प्लेस करने के बाद मेरा अकाउंट डेबिट में क्यों है?

SL प्लेस करने के बाद हेज पोजीशन के कारण आपके अकाउंट में डेबिट बैलेंस हो सकता है।अगर आपके ट्रेडिंग पोज़िशन लॉस में जा रहें है मार्केट में कुछ ख़राब मूवमेंट के कारण, तो यह हेजिंग आपको इससे बचा सकता है।हेजिंग के बारे में यहाँ और पढ़ें।

आपको अपने हेज्ड पोजीशन के लिए, मार्जिन बेनिफिट मिलता है।इसका मतलब यह है कि फंड्स कम ब्लॉक होगी आपके हेज्ड पोजीशन के लिए ।

मान लीजिए कि आपके पास दो ओपन पोज़िशन्स हैं जो एक दूसरे के खिलाफ हेज किए गए हैं।

  1. आपने किसी एक पोजीशन के लिए स्टॉप-लॉस ऑर्डर प्लेस किया हैं।
  2. जब आप किसी भी पोजीशन के लिए स्टॉप-लॉस ऑर्डर प्लेस करते हैं, तो वह पोजीशन हेज नहीं होता है। इसे दो ओपन पोज़िशन माना जाता है।
  3. दो ओपन पोजीशन के लिए मार्जिन तुरंत बढ़ जाता है।
  4. अगर आपके अकाउंट में पर्याप्त फण्ड नहीं है अपने नेकेड पोज़िशन के लिए मार्जिन को कवर करने के लिए, तो आपको SMS और ईमेल आएगा जो आपको मार्जिन शॉर्टफॉल (फण्ड की कमी) के बारे में नोटिफाई करेगा।
  5. आप अपने अकाउंट में और फण्ड ऐड कर सकतें हैं ताकि आपका पोज़िशन स्क्वायर ऑफ नहीं हो।(एक्सिस्टिंग पोज़िशन को क्लोज/एक्सिट करने को "स्क्वायर ऑफ" कहतें है )।
  6. नहीं तो फिर,आप स्टॉप-लॉस ऑर्डर को अवॉइड कर सकते हैं और हेज्ड पोज़िशन को खुद ही ट्रैक कर सकते हैं, और जब ज़रूरी हो तब एक्सिट भी कर सकते हैं।
  7. आप GTT आर्डर भी प्लेस कर सकतें हैं, स्टॉप-लॉस ऑर्डर के बजाय। ऐसा करने से आपको जो मार्जिन बेनिफिट मिला है आपने हेज्ड पोजीशन के खिलाफ उसको खोने से बच सकतें हैं। भारत में कोई दूसरा ब्रोकर के पास यह GTT फीचर उपलब्ध नहीं है ।

यहां एक उदाहरण है नंबर के साथ जो आपको इसे बेहतर तरीके से समझने में मदद कर सकता है:

  1. मान लीजिए कि आपके पास Nifty लॉन्ग पोजीशन है जिसे आपने शॉर्ट कॉल पोजीशन से हेज किया है।
  2. इन पोज़िशन्स को लेने के बाद, आपके ट्रेडिंग अकाउंट में ब्लॉक्ड फण्ड 1,62,000 रुपये होंगे (हेजिंग मार्जिन बेनिफिट के कारण)।
  3. हेज के बिना, इन दोनों पोज़िशन्स के लिए पूरा मार्जिन रु. 2,94,315 (Nifty फ्यूचर्स के लिए 1,63,433 रुपये और Nifty May CE के लिए 1,30,882.20 रुपये) होंगे।
  4. अगर आप Nifty May 15000 CE के लिए स्टॉप लॉस ऑर्डर प्लेस करते हैं, तो आपको हेजिंग बेनिफिट नहीं मिलता है।
  5. अब आपके ट्रेडिंग अकाउंट में 294315 रुपये कम्पलीट मार्जिन ब्लॉक होगा ।
  6. अगर आपके अकाउंट में पर्याप्त फण्ड उपलब्ध नहीं है, तो आपको मार्जिन कॉल के लिए SMS / ईमेल मिलेगा।
  7. अगर आप स्टॉप लॉस ऑर्डर के बजाय GTT ऑर्डर प्लेस कर रहे हैं, तो ब्लॉक्ड फण्ड रु 1,62,000 होगा क्योंकि आपको अभी भी मार्जिन बेनिफिट मिलेगा। आप GTT फीचर कैसे इस्तेमाल कर सकते हैं, इसके बारे में अधिक जानने के लिए यहां क्लिक करें।