Search for an answer or browse help topics to create a ticket
View all categories

What does Lock-in period mean?

(हिंदी में पढ़ें)

'Lock-in' period is the period during which mutual fund units cannot be sold or transferred to any other person.

However, you will be allowed to transfer the same to any other demat account in your name. (At Zerodha we only allow transfer to other CDSL demat accounts)

You also have the option to re-materialize them,to know more click here .

The lock in period is generally applicable for tax saving funds (Equity Linked Savings Schemes - ELSS).



‘लॉक-इन’ पीरियड का क्या मतलब है?


‘लॉक-इन’ पीरियड वह अवधि है जिसके लिए म्यूचुअल फंड यूनिट्स को बेचा या किसी अन्य व्यक्ति को ट्रासंफर नहीं किया जा सकता है।

हालांकि, आपको इसे अपने नाम के किसी दूसरे डीमैट खाते में ट्रांसफर करने की अनुमति होगी। (Zerodha में हम केवल अन्य CDSL डीमैट खातों में ट्रांसफर की अनुमति देते हैं)

आपके पास उन्हें फिर से Re-Materialize करने का विकल्प भी है, जानने के लिए यहां क्लिक करें

लॉक इन पीरियड आम तौर पर टैक्स सेविंग फंड (इक्विटी लिंक्ड सेविंग स्कीम - ELSS ) के लिए लागू होता है।