Search for an answer or browse help topics to create a ticket
View all categories

What is the inactivity alert?

(हिंदी में पढ़ें)

The nominee in your Demat account will be alerted if there is prolonged inactivity in your account. Suppose the account is not used for more than 365 days. In that case, regulations stipulate that the account is to be marked dormant to avoid fraudulent account usage. A re-KYC activity is to be undertaken to continue using the account. Suppose the re-KYC activity is not done within 30 days by the account holder, Zerodha will trigger an alert to the nominee.

Why set this up?

We work hard to build up a portfolio over time, and in our absence, we would like someone we care for to benefit from the investments made. The best way to keep them informed is to include them while taking up investment decisions, creating an FD, having a Demat account with securities, etc. We miss doing this most of the time, and the investments remain in the Demat account, and the account gets marked as inactive over time. We figured it's best to notify the nominee in case of prolonged inactivity in your account.

इनएक्टिविटी अलर्ट क्या होता है ?

यदि आपने अपने अकाउंट में बहुत दिनों से ट्रेडिंग नहीं की है तो आपके डीमैट अकाउंट के साथ जुड़े हुए नॉमिनी को हम अलर्ट भेजते है।मान लीजिये आपने अपने डीमैट अकाउंट को 365 दिनों से इस्तेमाल नहीं किया है।इस केस में SEBI के नियम के अनुसार आपके अकाउंट को दुरूपयोग/मिसयूज से बचाने के लिए उसे डॉर्मेंट कर दिया जाता है। यदि आप उस अकाउंट को दोबारा इस्तेमाल करना चाहते है तो आपको re-KYC करना होता है।यदि आपने 30 दिनों तक re-KYC नहीं की तो आपके नॉमिनी को अलर्ट भेजा जाता है।

ऐसा क्यों किया गया है ?

हम एक पोर्टफोलियो बनाने के लिए धीरे धीरे समय के साथ कड़ी मेहनत करते हैं, और हमारे नहीं होने पर, हम ये चाहते हैं कि कोई ऐसा व्यक्ति जिसकी हम परवाह करते हैं, उसे हमारे किए गए इन्वेस्टमेंट से फायदा हो।उन्हें हर इन्वेस्टमेंट की जानकारी हो इसका सबसे अच्छा तरीका है कि इन्वेस्टमेंट करते समय, FD बनाते समय, शेयर्स के साथ एक डीमैट अकाउंट खोलते समय हम उन्हें अपने साथ रखें पर हम ज्यादातर समय ऐसा करने से चूक जाते हैं, और इन्वेस्टमेंट हमारे डीमैट अकाउंट में रहता है, और यह अकाउंट रेगुलरली ट्रेड नहीं करने पर इनएक्टिव हो जाता है। इसलिए हमें लगा कि आपके अकाउंट के इनएक्टिवीटी के बारे में नॉमिनी को बताना सही है।