Search for an answer or browse help topics to create a ticket
View all categories

How do I convert physical share certificates into Demat form?

(हिंदी में पढ़ें)

Converting physical shares to DEMAT is called, 'Dematerialising of shares'.

You can dematerialise shares traded in the stock market and also companies listed on the depositories as well.

You can demat the physical shares if the share has a company name, face value.

To validate your certificate click here and mention the company name or ISIN as shown in the gif.

To Dematerialize your physical share certificates you'll have to submit the following:-

1.Two copies of the dematerialisation request form (DRF) . This will be applicable for up to 4 share certificates. (The 2 copies of DRF will be applicable for up to 4 share certificates of the same company)

In case you have more than 4 share certificates, if the certificate No. is in a sequence (1505101,1505102,1505103 etc.), you can submit just 2 DRF forms.

If the share certificates are not in sequence then you will have to submit 2 DRF forms plus the DRF annexure .

If you have share certificates of more than one company, you will have to provide separate sets of DRFs (& DRF annexure if needed) for each company.

2. DRF (Dematerialisation Request form) should be signed in the ‘Signature with DP (as per Zerodha’s records) and Signature with RTA/Issuer’ (as per the company records) fields.(If It is a joint account then both the holders need to sign).

3.If the address has changed then you need to submit old(Dividend warrant/allotment advice) and new address proof (Aadhar/passport copy) self-attested.

4.The original share certificates should be submitted along with the DRFs. (You can keep a photocopy with you)

5.A self-attested copy of your PAN.

Send the above to the below address:-

Zerodha HO [#153/154 4th Cross Dollars Colony,

Opp. Clarence Public School,

J.P Nagar 4th Phase, Bangalore - 560078]

Once you submit the above, the RTA (Registrar And Share Transfer Agent) will take up to 25 days to complete the dematerialization process.

Note:

  1. The name on the share certificate should match the name on the Demat account. If there is a name mismatch, you need to submit a Gazette letter or an affidavit on Govt. Stamp paper. If you have shares of more than 1 company then you need to give us the notarized copies of the affidavit/Gazette for all the companies. (The Gazette letter or affidavit should state the name on the demat account and the name on the share certificate should be one and the same)
  2. If the share certificates are held by a single holder , they can't be dematerialised into a Joint demat account. If the share certificates are jointly held , the shares have to be dematerialised into a Joint demat account with the same names as on the share certificate. (In the case the order of names on the holder pattern is different, then you have to follow the transposition procedure )
  3. You will be charged Rs 150 per share certificate + Rs 100 courier charges for dematerialisation. Click here to see the tariff sheet.
  4. If the shares that you are trying to dematerialise are part of this pending list on CDSL, you can send these scrips for dematerialisation once the name of the scrip is removed from the list. Additionally, these shares take longer to be dematerialised.

You can send us the soft copy of the documents before dispatching the hard copy so that we can verify and confirm the same. To do so you can raise a ticket below.

फिजिकल शेयर सर्टिफिकेट को डीमैट में कैसे कन्वर्ट कर सकते है ?

फिजिकल शेयरों को डीमैट में बदलना 'शेयरों को डीमैटरियलाइजिंग करना ' कहलाता है।

आप स्टॉक मार्केट में ट्रेड होने वाले शेयर्स और जो कम्पनीयां डेपोसिटरी में लिस्टेड है उन कम्पनीयों को डीमटीरियलाइज करवा सकते है।

यदि शेयर सर्टिफिकेट में कंपनी का नाम ,फेस वैल्यू और शेयरहोल्डिंग पैटर्न दिया गया है तो आप उसे फिजिकल फॉर्म से डीमैट में ट्रांसफर करवा सकते है।

अपने सर्टिफिकेट को वैलिडेट करने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये और कंपनी का नाम या ISIN डालिये जैसे की हमने नीचे दिए गए gif में दिखाया है।

अपने फिजिकल शेयर सर्टिफिकेट्स को डीमटीरियलाइज करने के लिए आपको नीचे दिए गए डाक्यूमेंट्स को जमा करना होगा: -


1. dematerialization request for m (DRF) की 2 कॉपी को सबमिट करना होगा। यह 4 सर्टिफिकेट्स के लिए लगेगी । (DRF की 2 कॉपियां एक ही कंपनी के 4 शेयर सर्टिफिकेट्स के लिए इस्तेमाल की जा सकती है )

यदि आपके पास 4 से ज्यादा सर्टिफिकेट्स है और सर्टिफिकेट के नंबर सीक्वेंस(1505101,1505102,1505103) पर है तो आप सिर्फ 2 DRF फॉर्म्स सबमिट कर सकते है।

यदि शेयर सर्टिफिकेट सीक्वेंस/क्रम में नहीं है तो आपको 2 DRF फॉर्म्स 2 DRF अनेक्क्सर् के साथ देने होंगे।

यदि आपके पास एक कंपनी से ज्यादा के शेयर सर्टिफिकेट है तो आपको DRF’s के अलग अलग सेट हर कंपनी के लिए अलग अलग देने होंगे ।

2. DRF (डीमटेरिअलाईजेशन रिक्वेस्ट फॉर्म) पर ‘Signature with DP’(Zerodha के रिकॉर्ड के अनुसार) और ‘Signature with RTA/Issuer’ (कंपनी के रिकॉर्ड के अनुसार ) फ़ील्ड्स पर आपके द्वारा साइन किये जाने चाहिए और क्लाइंट id भी लिखना चाहिए (यदि यह जॉइंट अकाउंट है तो दोनों होल्डर को सिग्नेचर करना चाहिए।

3.यदि पता बदल गया है तो आपको पुराना (डिविडेंड वारंट/अलॉटमेंट एडवाइस) और एड्रेस प्रूफ (आधार/पासपोर्ट प्रति) की सेल्फ-अटेस्टेड कॉपी को जमा करना होगा।

4 . DRFs फॉर्म के साथ असली सर्टिफिकेट जमा करने चाहिए (आप अपने साथ उनकी फोटोकॉपी रख सकते है ) ।

5 . PAN की सेल्फ-अटेस्टेड कॉपी।

ऊपर दिए गए डाक्यूमेंट्स आपको नीचे दिए पते पर भेजना होगा :-

Zerodha हेड ऑफिस [#153/154 4th क्रॉस ,डॉलर्स कॉलोनी ,

क्लेरेन्स पब्लिक स्कूल के सामने,

जे. पी. नगर 4th फेज, बैंगलोर - 560078]

जब आप यह डाक्यूमेंट्स सबमिट कर देते है तो RTA(रजिस्ट्रार एंड ट्रांसफर एजेंट) 25 दिनों में डीमटेरिअलाइज़ेशन प्रोसेस पूरा करते है।

नोट :

  1. शेयर सर्टिफिकेट पर जो नाम है वह डीमैट अकाउंट के नाम के साथ मैच होना चाहिए।यदि नाम मैच नहीं होता है तो आपको एक गैज़ेट लेटर या फिर गवर्नमेंट के स्टाम्प पेपर पर एफिडेविट बनवाकर सबमिट करना चाहिए।यदि आपके पास 1 कंपनी से ज्यादा के शेयर है तो फिर आपको एफिडेविट/गैज़ेटे की नोटराइज़्ड कॉपी हर कंपनी के लिए देना चाहिए।(गैज़ेट लेटर या एफिडेविट में आपका नाम लिखा हुआ होना चाहिए। यह नाम डीमैट अकाउंट के नाम और शेयर सर्टिफिकेट पर लिखे हुए नाम के साथ मैच होना चाहिए)
  2. यदि शेयर सर्टिफिकेट सिर्फ एक व्यक्ति के नाम पर है तो फिर इसे जॉइंट अकाउंट के साथ डीमटेरिअलाज़्ड नहीं किया जा सकता है यदि शेयर सर्टिफिकेट दो लोगों के नाम पर है, फिर शेयर्स को शेयर सर्टिफिकेट के अनुसार जॉइंट नाम पर डीमटेरिअलाज़्ड करना होगा। (यदि होल्डिंग पैटर्न पर नामों का क्रम अलग है, तो आपको ट्रांस्पोसिशन प्रक्रिया का पालन करना होगा)
  3. आपको Rs 150 प्रति सर्टिफिकेट +Rs 100 कूरियर डीमटेरिअलाइज़ेशन चार्जेस लगेंगे। यहाँ क्लिक करके टैरिफ शीट देख सकते है।
  4. यदि आप जिन शेयरों को डी-मटेरियलाइज करने का प्रयास कर रहे हैं, वे CDSL की पेंडिंग लिस्ट में हैं, तो फिर आप इस पेंडिंग लिस्ट से स्क्रिप का नाम हटा दिए जाने के बाद ही आप इन शेयरों को डीमैटीरियलाइजेशन के लिए भेज सकते हैं।इन शेयरों को डीमैटरियलाइज करने में थोड़ा ज्यादा समय लग सकता है।

हार्ड कॉपी भेजने से पहले आप हमें डॉक्युमेंट्स की सॉफ्ट कॉपी भेज सकते हैं ताकि हम उसको वेरीफाई करके कन्फर्म कर सकें। ऐसा करने के लिए आप नीचे जाकर टिकट बना सकते हैं।